शुक्रवार, 8 मार्च 2013

मैं नारी हूँ ....

मैं नारी हूँ ...
मैं हवा हूँ  मनचली हूँ,
मैं पानी हूँ जीवन हूँ ,
मैं महक हूँ सुकून हूँ,
मैं चंचल हूँ लहेक हूँ ,
मैं उदासी हूँ विडम्बना हूँ,
मैं सोच हूँ ज्ञान हूँ ,
मैं खूबसूरती हूँ मुस्कान हूँ,
मैं राह हूँ दिशा हूँ,
मैं लौ हूँ उजाला हूँ,
मैं शक्ति हूँ आदि हूँ,
मैं ममता हूँ माँ हूँ,
मैं सखी हूँ प्रेरणा हूँ,
मैं सवाल हूँ प्रमाणित हूँ,
मैं निर्मल हूँ कोमल हूँ ,
मैं अन्नपूर्णा हूँ अखंड हूँ,
मैं परिणीता हूं प्रेम हूँ ,
मैं स्रष्टि हूँ  सदेव हूँ 
 मैं चमक हूँ माया
                                 मैं धन हूँ लक्ष्मी हूँ
                                 मैं दुर्गा हूँ विनाश हूँ  
                                मैं नारी हूँ मैं नारी हूँ......    

4 टिप्‍पणियां:

ब्लॉग बुलेटिन ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन की ५५० वीं बुलेटिन ब्लॉग बुलेटिन की 550 वीं पोस्ट = कमाल है न मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

तुषार राज रस्तोगी ने कहा…

बहुत खूब लिखा |

तुषार राज रस्तोगी ने कहा…

आपकी यह पोस्ट आज के (०८ अगस्त, २०१३) ब्लॉग बुलेटिन - श्री भीष्म साहनी से चलो मिल जाएँ पर प्रस्तुत की जा रही है | बधाई

@ROCK ON@ ने कहा…

acha likhti ho ya aap beeti h? :-)